रेन वाटर हार्वेस्टिंग (वर्षा जल संचयन) करने का सही तरीका

वर्षा जल संचयन

दिन प्रति दिन भूजल के जबर्दस्त दोहन से लगातार पानी का स्तर नीचे जा रहा है। इससे पेयजल की किल्लत हो रही है। बारिश का पानी यूँ ही बहकर बर्बाद हो जाता है जबकि उसे बचाकर साल भर इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे पेड़-पौधों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी। बड़े शहरों में पानी की समस्या में बहुत हद तक कमी आ सकती है। इससे सप्लाई वॉटर या अंडरग्राउंड वॉटर का इस्तेमाल कम होगा और उसकी बचत होगी।

कैसे करें हार्वेस्टिंग

बारिश के पानी को हम जहाँ से भी ज्यादा-से-ज्यादा इकट्ठा कर सकते है, रेनवॉटर हार्वेस्टिंग वहीं होनी चाहिए। छत इसके लिए सबसे मुफीद जगह होती है। सोसायटीज और खुद की जमीन पर अपने हिसाब से घर बनाने वालों के लिए वॉटर हार्वेस्टिंग (वर्षा जल संचयन) आसान है और इसे अनिवार्य भी बनाया जा रहा है। 

1. स्टोरेज:- इसमें बारिश के पानी को सीधे उपयोग करने के लिए जमा किया जाता है। इसके लिए बारिश के पानी को पाइप के द्वारा स्टोरेज में जमा किया जाता है। इसमें रेनी फिल्टर प्रयोग में लाया जाता है और इसकी वजह से यह पानी अमूमन साफ रहता है। यह तरीका उन इलाकों में ज्यादा कारगर है जहाँ पर जमीन के नीचे का पानी खारा है या फिर बारिश बेहद कम होती है। इस पानी को घर की सफाई और बागवानी में इस्तेमाल कर सकते हैं।

2. रिचार्ज:- जहाँ का पानी मीठा हो, वहाँ धरती के नीचे बारिश का पानी भेजकर ग्राउंड वॉटर को रिचार्ज किया जा सकता है। इस पानी को हम मनमर्जी से खर्च नहीं कर सकते, लेकिन इस तरीके से जमीन के अन्दर मौजूद मीठे पानी के स्तर को बढ़ाया जाता है। इसके लिए खास तरह का गड्डा खोदना पड़ता है। अगर ग्राउंड वॉटर नमकीन हो तो मीठा पानी रिचार्ज करने से वह भी नमकीन हो जाता है।

रिचार्ज होने के लिए छत पर जमा होने वाले बारिश के पानी को सीधे एक गड्डे में भेजा जाता है। इसके लिए रेनवॉटर हार्वेस्टिंग फिल्टर लगवाना पड़ता है। इस फिल्टर को छत से आगे वाली पाइप के निचले हिस्से में लगाया जाता है। इससे गड्डे में पहुँचने वाली कई तरह की गंदगी रुक जाती है और साफ पानी धरती के नीचे जाकर ग्राउंड वॉटर का लेवल बढ़ाता है।

घरों में पानी ऐसे बचाएँ

➢    जितने जल की जरूरत हो, सिर्फ उतना ही इस्तेमाल करें।

➢    पानी के इस्तेमाल के बाद नल को कसकर बंद कर दें।

➢    ब्रश करते समय, बर्तन और कपड़े धोते समय नल को चलते रहने न दें।

➢    पानी लीक होने की स्थिति में प्लंबर को फौरन बुलाकर ठीक कराएँ।

➢    ऐसी वाशिंग मशीन का इस्तेमाल करें जिससे पानी की बचत हो।

➢    बाल्टी या बोतल में पानी बचने की स्थिति में उसे फेंकने के बजाय पौधों में डाल दें।

➢    फलों या सब्जियों को धोने के बाद उस पानी को क्यारियों व पौधों में डाल दें।

क्या रखें ध्यान

➢    ऐसे रिचार्ज पिट इमारत की फाउंडेशन या बेसमेंट से कम से कम 5 मीटर पर हो।

➢    ऊपर लिखे फिल्टर मीडिया की जगह पर मल्टिपल लेयर में ‘‘जूट मैट’’ का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

➢    किसी भी तरह का वेस्ट वॉटर रिचार्ज स्ट्रक्चर के अन्दर नहीं पहुँचे।

➢    रिचार्ज स्ट्रक्चर की गहराई 1 से 4 मीटर तक हो।

➢    छत को किसी भी तरह के केमिकल से पेंट नहीं होना चाहिए।

➢    छत पर किसी भी तरह का केमिकल, जंग लगा हुआ लोहा, खाद या सर्प आदि नहीं होना चाहिए।

नोट:- ऐसे किसी भी एरिया में रेनवॉटर हार्वेस्टिंग (वर्षा जल संचयन) करने की जरूरत नहीं, जहाँ मानसून के बाद अंडरग्राउंड वॉटर का स्तर 5 मीटर या इससे कम हो। इससे ज्यादा गहराई पर पानी हो, तभी इसकी जरूरत है।  

The News Diary Online

The News Diary is a online News Portal. The News Diary news portal covers latest news in politics, entertainment, Bollywood, business, sports, health & art and culture . Stay tuned for all the breaking news.

Leave a Reply

Next Post

कैसे करें अपने वोटर आईडी का सुधार, एक सितंबर से 15 अक्टूबर सत्यापन कार्यक्रम

Sun Sep 1 , 2019
एक सितंबर से 15 अक्टूबर तक आप अपने वोटर आईडी कार्ड का सत्यापन और त्रुटियों के लिए आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कर सकते है। चुनाव आयोग के द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार एक सितंबर से 15 अक्टूबर तक में 100 प्रतिशत सत्यापित, सही, […]

Breaking News

%d bloggers like this: