लोक शैली में प्रस्तुत नाटक “छोहर”

नाटक “छोहर”

बघेली शोहर गीत पर आधारित नाटक “छोहर” का मंचन सब्यसांची आवासीय आदीवासी कन्या शिक्षा परिसर सरेठी में हुआ। यह आयोजन उत्तर मध्य क्षेत्र सांस्कृतिक केंद्र प्रयागराज व इंद्रवती नाट्य समिति के द्वारा हुआ। नाटकीय आलेख, परिकल्पना, संगीत एवं निर्देशन रोशनी प्रसाद मिश्र का था।

कथासार

नाटक “छोहर”

यह नाटक पूर्ण रूप से एक स्त्री के इर्द गिर्द घूमती है। जो बच्चें को जन्म नहीं दे सकती । लेकिन उसकी सत्व स्त्रीत्व एवं सच्ची मातृत्व प्रेम ने एक काठ के बच्चे में प्राण फूंकने के लिए परमशक्ति ईश्वर को भी मजबूर कर देती है। बच्चे को जन्म ना देने का दोष हमेशा से ही औरतों के माथे ही पर लगता है। इस कलंक का दंश वो जिंदगी भर अकेले ही झेलती है। साथ ही समाज भी उसे ही दोषी ठहराता रहता है। ये नाटक इसी कथानक के इर्द-गिर्द घूमती है। बच्चा ना होने से कारण दूसरी शादी से बचने के लिए स्त्री बढ़ई के द्वारा एक कठा का बच्चा बनवाती है। उसके बाद वो अपने बच्चा होने की झूठी खबर सब को बता देती है। जब खबर उसके नैहर पहुँचती है तो बधाई देने के लिए उसका भाई आता है। जब उसे इस बात का ज्ञान होता है कि अब उसका झूठ पकड़ा जाएगा तो वो सूर्य की आराधना करती है कि मेरा बेटा में जान डाल दें और उसकी मनोकामना पूरी होती है।

नाटक “छोहर”

लोक शैली में प्रस्तुत नाटक दर्शकों में काफी सराहनीय रहा। नाटक का कथानक लोक कथा से प्रेरित था, जिसे लोक नृत्य और संगीत के माध्यम से प्रस्तुत किया गया।

The News Diary Online

The News Diary is a online News Portal. The News Diary news portal covers latest news in politics, entertainment, Bollywood, business, sports, health & art and culture . Stay tuned for all the breaking news.

Leave a Reply

Next Post

बोल्ड विषय पर आधारित नाटक "जिद"

Thu Sep 5 , 2019
पत्रकारिता जगत में राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित अंजनी कुमार विशाल के सम्मान में नाटय संस्था रंगम द्वारा आयोजित एक शाम अंजनी कुमार विशाल के नाम कार्यक्रम के तहत नुक्कड़ नाटकों फोटो प्रदर्शनी एवं नाटक “जिद” का मंचन हुआ। रंगम द्वारा सआदत हसन मंटो की कहानी “सरकंडो के पीछे” पर आधारित […]

Breaking News

%d bloggers like this: