बिहार राज्य कृषि विभाग राज्य के किसानों के उत्पादन बढ़ाने के लिए कर रही है, जैविक खाद उत्पादन का प्रयास

Vermicompost Unit,
Vermicompost Unit

बिहार राज्य कृषि विभाग राज्य के किसानों को रासायनिक खाद पर निर्भरता मिटाने के लिए जैविक खाद का उत्पादन बढाने का प्रयास कर रही है। राज्य में खरीफ और रबी मौसम में रासायनिक खादों की भारी कमी हो जाती है। इसका नतीजा होता है कि किसानों को अधिक कीमत देकर रासायनिक खाद खरीदने पड़ते है। किसान बिना मिट्टी जाँच कराए रासायनिक खादों को बेतहाशा उपयोग करने लगते हैं। इससे उत्पादन तो उतना बढ़ता नहीं है, उल्टे किसानों को खाद की खरीद में अधिक पैसे लगाना पड़ता हैं। साथ ही मिट्टी की उर्वराशक्ति भी धीरे-धीरे क्षीण होती जाती है। इन्हीं समस्याओं से किसानों को उबारने के लिए बिहार राज्य कृषि विभाग किसानों द्वारा बड़े पैमाने पर जैविक खाद का  उत्पादन बढ़ाने का प्रयास कर रही है।

जैविक खाद के बड़ी नई यूनिट लगने में सरकार करेगी मदद 

इस प्रयास में जैविक खाद उत्पादन बढ़ाने के लिए किसानों द्वारा बड़े प्लांट लगाने में सरकार ने किसानों को अधिक सहायता देने का निर्णय लिया है। अब किसान गांवों में 50 लाख रुपये की लागत से जैविक खाद के बड़ी नई यूनिट लगा सकते हैं। इसके लिए विभाग ने प्रत्येक जिले में एक जैविक ग्राम का चयन करेगा है। वहाँ किसानों को जैविक खाद के उत्पादन और प्रयोग बढ़ाने के लिए प्रेरित किया जाएगा है। अभी किसानों में जैविक खाद के उपयोग के प्रति जानकारी का आभाव है। इसलिए कृषि विभाग के अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि वे किसानों को जैविक खाद यानी वर्मी कम्पोस्ट, गोबर की खाद तथा कचरे से निर्मित खाद की उत्पादन-इकाई लगाने की जानकारी दें। कृषि उत्पादन आयुक्त के अनुसार अगले पाँच वर्षों में इस योजना पर विभाग 250 करोड़ रुपये खर्च करने का इरादा रखता है। इसके लिए इच्छुक किसान जैविक खाद निर्माण की बड़ी इकाई लगाने के लिए अपने जिले के जिला स्तर पर आयोजित होने वाले कृषि उपादान मेला में भी आवेदन कर सकते है। 

The News Diary Online

The News Diary is a online News Portal. The News Diary news portal covers latest news in politics, entertainment, Bollywood, business, sports, health & art and culture . Stay tuned for all the breaking news.

Leave a Reply

Next Post

ठंड के मौसम में सावधान रहे पशुपालक

Fri Oct 11 , 2019
अक्तूबर माह के अंत तक ठंड की शुरूवात होने के आसार है। ठंड में पशुयों पर विशेष ध्यान देना चाहिए। ठंड में पशुयों के देखभाल के तरीक़े अक्टूबर माह में पशुपालकों को अपने पशुओं पर विशेष ध्यान देना चाहिए, क्योंकि इस माह से ठंड का मौसम शुरू हो जाती है। […]

Breaking News

%d bloggers like this: